क्रिकेट का बादशाह कोहली

    • कहते है कि क्रिकेट में रन बनाना पड़ता है मगर एक खिलाड़ी ऐसा है वह जब रन बनाता है रन बनते नहीं बल्कि रन बहते है।
    • कहते है कि क्रिकेट में सेंचुरी बड़ी मुश्किल से बनती है लेकिन एक खिलाड़ी ऐसा है वह बड़ी आसानी से सेंचुरी बना लेता है।
    • कहते है कि क्रिकेट टेस्ट मैच में डबल सेचुरी खिलाड़ी कभी-कभार ही बना पाता है लेकिन ये खिलाड़ी डबल सेंचुरी भी अक्सर बना लेता है ।
  • कहते है कि एक खिलाड़ी जब कप्तान बन जाता है तो दबाव में उसका प्रर्दशन गिर जाता है मगर एक खिलाडी है जो कप्तान बनने के बाद उसका प्रदर्शन निखरता जा रहा है। 

अब आप जान चुके होगें उस खिलाड़ी का नाम वह है किक्रट की दुनियां का नया बादशाह विराट कोहली । एक समय ऐसा आया था जब सचिन तेदुलकर ने क्रिकेट के प्रति आदमी की सोच बदल दी थी । लगने लगा था कि जिस स्तर पर सचिन ने क्रिकेट खेल का प्रर्दशन किया है और जितने भी रिकार्ड बनाए थे। उनको कोई तोड़ नहीं सकता है। लेकिन इसके बाद विराट कोहली फिर ये सोच बदल कर रख दिया । और अब तक कोहली के प्रर्दशन को देखकर तो लगता है कि और भी नए रिकार्ड बनने बाकि हैं ।

बेमिसाल क्रिकेटर है कोहली

निरंतरता की बात करें तो विराट कोहली ने बतलाया की निरंतरता किसी कहते है? 12 महिनों तक तीनों फार्मेट में टी 20, टेस्ट, व वन डे मेंं लगातार रन बनाना वह भी 50 के उपर एवरेज के साथ । उन्हें दुनियां का एक मात्र खिलाड़ी बनाता है जिसका तीनों फार्मेट में 50 से उपर एवरेज है। बात अगर रन बनाने की करें तो क्रिकेट के इतिहास में कई खिलाड़ियों ने रन बनाए है।लेकिन टारगेट चेज करते हुए अगर सबसे ज्यादा कोई खिलाड़ी रन बना रहा है तो वह है विराट कोहली । कोहली की यह विशेषता रही है कि वह दबाव में टारगेट चेज करते हुए बहुत अच्छा प्रर्दाशन बखूबी करते है। जिसकी पूरी दुनियां कायल है। आज जिस तरह से विराट कोहली खेल रहें है उससे तो यही लगता है कि वह अपने करिअर के अंत तक सवा-सौ सेंचुरी बना लेंगें । कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि वर्तमान में वह जिस तरह से खेल रहें है और उनकी उम्र अभी 30 वर्ष है और वह आसानी से 7 से 8 साल और खेल सकते है उस हिसाब से सवा सौ सेंचुरी बनाना कोई बड़ी बात नहीं है।


कप्तानी में है लाजवाब

बात करते है उनकी कप्तानी की तो वह जिस तरह से भारतीय टीम को टेस्ट, टी20 व वन डे में जीत पर जीत दिलाते जा रहें हैं उससे तो यही लगता है कि वे कप्तानी के सारे रिकार्ड भी अपने नाम कर लेगें । कहते है क्रिकेट में फिटनेस का बहुत बड़ा योगदान रहता है । विराट कोहली की सफलता का कारण भी फिटनेस है। कई लोगों का कहना है कि विराट कोहली इतने सारे रन शायद इसलिए बना पा रहें है क्योंकि आज के दौर में पहले की तरह फास्ट बॉलर और स्पीनर नहीं है जो अपनी गेंद बाजी के दौरान अच्छे-अच्छे बल्लेबाजों के छक्के छुड़ा दिया करते थे लेकिन आज के दौर में विराट कोहली के साथ बहुत सारे खिलाड़ी क्रिकेट खेल रहें है । फिर भी वो इतने सारे रन क्यों नहीं बना पा रहें है। जब हम इतिहास के पन्ने उठाते है। तो उसमें सिर्फ आंकड़ों का ज्रिक होता है जिसके जितने ज्यादा आंकड़े बड़े होते है वह खिलाड़ी उतना ही बड़ा माना जाता है। हालांकि अभी जिस राह पर विराट कोहली चल रहें रहें उससे तो यही लगता है कि आने वाले समय में वह बल्लेबाजी के सारे रिकार्ड अपने नाम कर लेगें ।
हमें तो ये भी सोचना होगा कि जिस दिन विराट कोहली बल्ले बाजी के सारे रिकार्ड अपने नाम करेंगे उस दिन फिर क्रिकेट प्रमियों के सामने एक प्रश्न रहेगा कि अब कौन सा खिलाड़ी आएगा जो विराट कोहली का रिकार्ड तोड़ेगा ?

Please follow and like us:
error20

Hits: 68

Author: adji

2 thoughts on “क्रिकेट का बादशाह कोहली

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.