Gunda Dhur and his contribution

15 अगस्त को पूरा देश आजादी की वर्षगांठ मनाता है, हम अनगिनत कुर्बानियों के बाद  200 साल की गुलामी से आजाद हुए, अब हमारी आज़ादीRead More

इंद्रावती सूखने का कारण

पेड़ की जड़े मिट्टी को को एक स्पंज की तरह छेददार बना देती है। और जब बरसात होती है तो यह जड़े पानी को भी सोख लेती हैं और मिट्टी को थामे रखती हैं और साथ ही जानिए नदियां क्यों सूखती है। इन्हें किन उपायों को अपना कर बचा जा सकता है?

Waterfall in Bastar

ट्रेकिंग के शौकिनों के लिए जगह मायने नहीं रखती है। उनके लिए जो मायने रखता है वह है रहस्य और रोमांच से भरपूर यात्रा। हम आपको आज एक ऐसे झील वह जलप्रपात के बारे में

Lok Sabha

इस प्रणाली की सबसे बड़ी खूबी यह है कि यहां सरकार जनता चुन कर लाती है और जनता के हाथ में ही सरकार की बागडोर होती है। और सरकार हमारे यहंा दो प्रकार की होती है । एक केन्द्र पर और दूसरा राज्यों पर ।

बस्तर में आम का त्यौहार

बस्तर में जनजातिय त्यौहारां का विशेष महत्व है । वे प्रकृति से प्राप्त हर फसल पर कुछ -न-कुछ रस्म करके उसका उपयोग करते हैं धान,ईमलीRead More

दंतेवाड़ा का फागुन मेला।

को नृत्य संगीत का कार्यक्रम आयोजित होता है। इस कार्यक्रम में कलार और कुम्हार जातियों के लोग भाग लेते हैं ।
दंतेवाड़ा में 11 दिन तक चलने वाले फागुन मड़ई में 9 वें दिन होलिका दहन किया जाता है ।

बस्तर में अनूठी होली

में इस दिन कोई रंग गुलाल नहीं खेला जाता है । मान्यता के अनुसार इस दिन सभी माड़पाल की होली में शरीक होते है परिणामस्परूप ग्राम कलचा खाली रह जाता है। यहां रंग पंचमी को रंग गुलाल खेल कर होली मनाई जाती है…..

खाते से नहीं होगें पैसे गायब!

आजकल मोबाईल द्वारा जो ठगी समाने आयी है उसे मोबाईल सिम स्वैप फ्राड कहते है। अगर आपका फोन बैंक से लिंक है तो इन चीजों के प्रति सचेत रहने की जरूरत है। सायबर सेल के मुताबिक..

बस्तर-आदिवासी समाज की मान्यताएं

बस्तर में आदिवासी समाज के विषय में पड़ताल के संपादित अंश. जिस तरह हमारा शरीर पाँच तत्वों से बना है, उसी तरह आदिवासी समाज भी मानता है कि उसकी काया माटी से बनी है

जगदलपुर दर्शन

जानिए बस्तर के जगदलपुर शहर को : अगर आप ऐसी जगहों पर घूमने के शौकीन है जहां आपको प्राकृतिक सुंदरता के साथ साथ ग्रामीण संस्कृतिRead More