क्रिकेट विश्वकप की दावेदार टीमें

2019 के क्रिकेट वर्ल्ड कप

सभी क्रिकेट प्रेमियों की निगाहें 2019 को ओवल मैदान में रूक जाएंगी । 2019 का क्रकेट वर्ल्ड कप का आगाज 30 मई को इंग्लैण्ड के ओवल मैदान में होने जा रहा है। क्रिकेट का यह मेला चार वर्षों में लगता है। Cricket Wold Cupऔर सभी को इसका बेसब्री से इंतेजार रहता है। इस बार का वर्ल्ड कप पहले के खेले गए वर्ल्ड कप से अलग होगा । ये तो आप जानते ही होगें कि क्रिकेट का जन्म दाता इंग्लैण्ड रहा है और इंग्लैण्ड ने अभी तक कोई भी वर्ल्ड कप नहीं जीता है। इस बार क्रिकेट का वर्ल्ड कप इंग्लैण्ड में ही होने जा रहा है।

इसीलिए सभी के जहन में इस प्रश्न का उठना स्वाभाविक है कि क्या इस बार इंग्लैण्ड की टीम अपने घर पर वर्ल्ड कप जीत पायेगी । वर्ल्डकप 2019 में कई बातें होंगी जो अब तक खेले गए वर्ल्डकप के मैचों से अलग होगीं। क्यों और कैसे आईए जाने!

एक सबसे प्रमुख कारण है आस्ट्र्लिया टीम !

सन् 2000 से वर्ल्डकप मैचों में आस्ट्र्लिया का वर्चस्व हमेशा रहा है। 2011 के वर्ल्डकप को छोड़ दे तो 2000 से 2014 तक सारे वर्ल्ड कप आस्ट्र्लिया ने ही जीते हैं । और शायद यही वजह रही जिसके कारण वर्ल्ड कप का थोड़ा सा रोमांच खत्म हो गया था। इस बार बात थोड़ी बदल चुकी है। जैसा कि सभी को नजर आ रहा है कि आस्ट्र्लियाई टीम का दबदबा अब पहले जैसा नहीं रहा है । उसका स्तर अब काफी गिर चुका है। इसकी चमक अब कुछ फीकी पड़ गई है। क्योंकि आज इस टीम के पास में शेन वॉन, मेग्राथ,
गिलक्रिस्ट, रिकी पॉन्टींग,लैंगर,ऐंड्रू साइमन जैसे खिलाड़ी नहीं हैं। फिर भी इसे हल्के में नहीं लिया जा सकता है।

हम यहां एक-के-बाद एक उन टीमों के बारे में चर्चा करेंगें जिनकी चमक कुछ कम पड़ी है या उनके बारे में जिनका दबदबा बड़ा है। चमक फीकी पड़ने वाली टीमों में पाकिस्तान और वेस्ट इंडिज की टीमें आती हैं।
पाकिस्तानी टीम में आज कोई ऐसी बात नहीं है जिसके कारण हम उसे 2019 के वर्ल्ड कप का विजेता कह सके।
वहीं एक समय में काली आंधी के नाम से पहचानी जाने वाली वेस्ट इंडिज की टीम इस बार बड़ी मुश्किल से इस प्रतियोगिता को क्वालिफाई कर पायी है।

इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इस टीम को वर्ल्ड कप जीतने की उम्मीद नहीं है।
कोई चमत्कार हो जाए और वेस्टइंडीज वर्ल्ड कप जीत जाए तो ये बात अलग है। लेकिन सभी को मालूम है कि चमत्कार कभी-कभी होते है।
अब हम बात करते है 1996 की विश्व विजेता टीम श्रीलंका की जिसमें न तो कोई जयसूर्या जैसा विस्फोटक बल्लेबाज है और न ही मुरलीधरन जैसा कोई स्पीनर है। जो अपने दम पर टीम को जीता दे । इसलिए इस टीम से भी हम बहुत ज्यादा उम्मीद नहीं कर सकते है।
2014 की रनर-अप टीम न्यूजीलैण्ड ने हांलांकि अभी तक कोई भी वर्ल्ड कप नहीं जीता है लेकिन उसने स्वयं के प्रर्दशन से चौकाया जरूर है। और हमेशा उलट-फेर करने का माद्दा भी रखती है । लेकिन यह भी सच है कि किसी बड़े टूर्नामेंट में पहूॅच कर जीतती बहुत कम है। जैसा कि उसके साथ 2014 के फाइनल में हुआ था जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने बड़ी आसानी से हरा दिया था। इस लिहाज से न्यूजीलैण्ड को उलट फेर करने वाली टीम तो कह सकते है लेकिन हम उसे वर्ल्ड कप का प्रबल दावेदार नहीं कह सकते हैं।
अब बात करते हैं एक छोटी टीम की जो सभी टीमों को लोहे के चने चबा देने को मजबूर कर देती है । जैसे उसने 2007 के वर्ल्ड कप में भारत की टीम को प्रतियोगिता से बाहर का रास्ता दिखा दिया था। आपने सही पहचाना ये बंग्लादेश की टीम है । जो हर प्रतियोगिता में कुछ-न-कुछ चौकाने वाले परिणाम देती है।
इसके अलावा
अफगानिस्तान की टीम है जो पहली बार वर्ल्डकप खेलेगी। और उम्मीद करते हैं कि ये टीम कुछ-न-कुछ चौकाने वाले परिणाम इस प्रतियोगिता में जरूर देगी।

 

अब हम बात कर रहें वर्ल्ड कप की तीन प्रबल दावेदार टीमों की वे हैं इंग्लैण्ड, अफ्रीका और भारत । संभवतः इन तीनों में कोई एक ही वर्ल्ड कप 2019 की विजेता होगी । कैसे ? इन्हें चंद बिन्दुओं में समझ सकते हैं ।

इंग्लैण्ड की टीम

 अगर हम इंग्लैण्ड टीम के खिलाड़ियों की बात करें तो इस टीम में कई खिलाड़ी ऐसे है जो मैच को जीत में बदल सकते है। जैसे मोरर्गन, मोईन अली, बटलर, जो रूट, जैसन राय बेन स्ट्रृक्स । इंग्लैण्ड टीम को होम ग्राउण्ड का फायदा तो मिलना ही है। साथ ही हाल ही में इसका एक दिवसीय मैचों में प्रर्दशन काफी अच्छा रहा है । पिछले वर्ष भी इंग्लैण्ड ने भारत को अपने यहां हराकर एक दिवसीय सीरिज जीती थी। इससे आप अंदाजा लगा सकते है।

 

मौजूदा समय में इंग्लैण्ड को कम नहीं आंका जा सकता है। इस लिहाज से इंग्लैण्ड टीम भी 2019 की प्रबल दावेदार है।

अफ्रीका की टीम

अफ्रीका टीम पर यूॅ तो चौकोस का लेबल लगा हुआ है क्योंकि यह प्रतियोगिता में आखिर दौर तक तो पहूॅच जाती है मगर प्रतियोगिता जीत नहीं पाती हैं । लेकिन एक दिवसीय मैचों में अफ्रीकन टीम का हाल में किया गया प्रर्दशन काफी अच्छा रहा है। अफ्रीकन टीम को इंग्लैण्ड का वातावरण काफी रास आता है। ।अफ्रीक-टीम में भी वर्तमान में विश्व स्तरीय गेंदबाज तथा बल्लेबाज हैं । डुप्लेसी, डीकॉक, डेविड मिलर, जैसे मैच विनर बल्लेबाज हैं । वहीं क्रिस मोरिस जैसे ऑलराऊंडर है। वहीं गेंदबाजी में डेल स्टेन, रबाड़ा और इमरान ताहिर जैसे गेंदबाज है। जो इंग्लैण्ड के पिच पर अच्छे गेंदबाजी का प्रर्दशन करेंगें। इस लिहाज से अफ्रीका टीम भी वर्ल्डकप जीतने की प्रबल दावेदार है।

भारत की टीम

भारतीय टीम अभी जिस प्रकार से खेल का प्रर्दशन कर रहीं है उस लिहाज से वह कभी भी कुछ भी कर सकती है। भारत में पिछले दो सालों के क्रिकेट खेल इतिहास पर गौर करें तो भारत ने सभी एकदिवसीय श्रंखला जीती है। और ये भी सच है कि वे सभी भारत में खेली गई थे लेकिन भारत ने एशिया से बाहर कुछ अच्छा प्रर्दशन नहीं किया है। लेकिन फिर भी भारत के पास मैच जीतने के अच्छे कॉम्बीनेशन हैं ।
जैसे भारत के पास रोहित शर्मा और विराट कोहली है जिनके ईर्द-गिर्द भारतीय बल्लेबाजी घूमती रहेगी। वहीं अगर हम बात करें धवन,महेंद्र सिंह धोनी, अम्बति रायडू, और दिनेश कार्तिक जैसे खिलाड़ियों की तो इनका मौजूदा फार्म देखते हुए उन पर बहुत ज्यादा भरोसा तो नहीं किया जा सकता है लेकिन वे फिर भी अपने दम पर मैच पलटने की ताकत रखते है। भारत की बल्लेबाजी में अगर कोई कमजोरी है तो उसका मिडिल आर्डर । भारत को अपना मिडिल आर्डर मजबूत करना होगा। वहीं गेंद बाजी की बात की जाए तो भारत के पास विश्व स्तरीय गेंदबाज जसप्रीत बूमराह है। जो कि मैच के शुरूआती घंटों में और आखिरी स्लॉग घंटों में किसी भी टीम की धज्जियां उड़ाने में माहिर है। भूनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी अपनी स्वींग द्वारा इंग्लैण्ड के पिचां को भरपूर फायदा उठा सकते हैं और किसी भी टीम को मुश्किल में डाल सकते हैं और इनके साथ में स्पीनर कुलदीप, रविंद्र जडेजा, अश्विन ये लोग भी स्पीन विभाग में अकेले के दम पर सामने वाली टीम को परेशानी में डाल सकते है। इस लिहाज से भारतीय टीम भी काफी संतुलित है।
भारतीय टीम वर्ल्ड कप 2011 में जीती थी । अब विराट कोहली की कप्तानी में 2019 का वर्ल्ड कप भी जीत जाए तो कोई बड़ी बात नहीं है।

मगर परिणाम जानने के लिए हमें 14 जुलाई तक इंतेजार करना होगा। हम उम्मीद करते हैं कि भारत 2019 का वर्ल्ड कप भी जीते ।

Please follow and like us:
error20

Hits: 167

Author: adji

2 thoughts on “क्रिकेट विश्वकप की दावेदार टीमें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.