आयुर्वेदिक टिप्स

आयुर्वेदिक टिप्स

गुड़ के गुण

बदलते मौसम में शरीर का दर्द होना आम बात है. मौसम बदलते ही सर्दी-जुकाम और शरीर दर्द की समस्या होने लगती है. इन समस्याओं से निजात दिलाने में बेहद असरकारी उपाय हैं गुड़ और जीरे का पानी का सेवन, बदलता मौसम जहां एक ओर आपके मूड को बदल देता है वहीं, दूसरी और सेहत पर भी असर डालता है. अक्सर इस दौरान तबियत खराब होने पर हम सीधा डॉक्टर के पास चले जाते हैं. और बेहद गर्म दवाएं ले लेते हैं, जो सेहत पर कई तरह के साइड इफेक्ट भी डालती हैं. क्या हो अगर हम आपको इस बदलते मौसम में सेहतमंद रहने का एक असरकारी और स्वादिष्ट उपाय बताएं, यह उपाय है श्गुड़ और जीरा्य, जीरे को आमतौर पर मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. वहीं गुड़ खाने कसे शरीर में खून बढ़ता है. गुड़ और जीरे के सेवन से शरीर का दर्द तो कम होता ही है साथ ही खून की कमी या एनिमिया की समस्या से भी छुटकारा मिलता है. जीरा और गुड़ पानी पीने से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है. गुड़ शरीर के अंदर की गंदगी को साफ कर इम्यून सिस्टम मतबूूत बनाता है. पेट-दर्द, अपचन जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है. पीरियड्स का अनियमित होना महिलाओं में बड़ी समस्या बनती जा रही है. गुड़ और जीरे के सेवन से पीरियड्स में फायदा मिलता है. सिरदर्द और बुखार में गुड और जीरे का पानी पीने से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.
कैसे बनाए गुड और जीरा का पानी
एक बर्तन लें, उसमें 2 गिलास पानी डाल कर गर्म कर लें, उसमें गुड़ और जीरा डाल दें, गुड़ और जीरे को उबाल लें. जब अच्छे से उबल जाए तो उसे नीचे उतार कर ठंडा होने दें. उसके बाद उस पानी को छानकर रख लें, रोज सुबह खाली पेट इस पानी का सेवन करें.

ऐसे खाएं सेव

सेव को छील कर नहीं खाना चाहिए, जब हम सेव का छिलका निकालते हैं तो छिलके के बिलकुल नीचे रहने वाला विटामिन सी काफी मात्रा में नष्ट हो जाता है. लौह, आर्सिनिक और फॉस्फोरस से युक्त यह फल शरीर की कमजोरी में बड़ा ही लाभदायक होता है, खासकर इसका रस निकाल कर पिएं. सेव का रस पीने के लिए सही समय खाने से आधा घण्टा पहले और सोने से पहले है.
जिन लोगों की ऑखें कमजोर हैं उन्हें एक ताजा सेव की पुल्टिस कुछ दिनों तक आंखों पर बांधनी चाहिए. इसके साथ ही सेव मधुमेह की बीमारी में भी लाभदायक है. यदि भोजन के साथ प्रतिदिन ताजा मक्खन तथा मीठा सेव खाएं तो चेहरा सुर्ख हो जाता है. पके सेव के एक गिलास रस में मिश्री मिलाकर प्रतिदिन सुबह नियमित रूप से पीने से पुरानी से पुरानी खांसी भी ठीक हो जाती है. अगर आपको बार-बार भूलने की आदत है तो रोजाना एक सेव फल खाएं. इससे याददाश्त तेजी होती है.
अंग्रेजी में एक कहावत है एन एप्पल अ डे कीप्स द डॉक्टर अवे. जी हां एप्पल यानी सेव में बहुत से गुण होते हैं ये शरीर के लिए बेहद फायदेमंद तो होता ही है साथ ही इम्युनिटी पॉवर बढ़ाता है. इसीलिए कहा जाता है कि रोज एक सेव खाने से शरीर निरोगी रहता है. सेव में बहुत ही ज्यादा पौष्टिक तत्व होते हैं. खनिज और विटामिनों से भरपूर है यह सेब. साथ ही इसमें रेशों (फाइबर)की मात्रा खूब होती है और कोलेस्ट्राल बिलकुल नहीं होता. कब्ज दूर करने के लिए प्रतिदिन सुबह उठकर खानी पेट दो सेव चबा-चबाकर खाएं. इससे अग्रिमांद्य दूर होता है और भूख भी बढ़ जाती है. सेव के छिलके में आर्सेनिक एसिड नामक एक तत्व पाया जाता है, इस तत्व में हष्ट-पुष्ट बनाने के प्राकृतिक गुण होते हैं जिससे शरीर सुडौल और छरहरा बनता हैं.

सेहत के लिए गुणकारी है अनार

अनार हमारे शरीर के लिए लाभदायक फल है. यह शरीर में खून की कमी को पूरा करता है. इसकी सबसे अच्छी बात यह है कि यह पूरे साल मिलता है. आइए जानें अनार के कुछ गुणों के बारे में:-
नैचुरल ब्लड थिनर: दो तरह के ब्लड क्लॉट्स होते है:- पहला जिसमें त्वचा बहुत जल्दी रिकवर कर लेती है जैसे कट या छिलना. यहां ब्लड क्लॉट हो जाता है ताकि खून ज्यादा न बहे. दूसरे तरह का ब्लड क्लॉट अदरूनी और खतरनाक होता है. उदाहरण के लिए हार्ट या आर्टरीज में ब्लड क्लॉट होना. ऐसे में ब्लड को थोड़ा पतला करने के लिए अनार के बीज काम में आते हैं. अनार के बीज ब्लड प्लेटलेट्स को इकट्ठा नहीं होने देता.
शायद कई लोगों को मालूम नहीं है कि अनार एंटीऑक्सीडेंट का भंडार है. यह आपके शरीर के सैल्स को फ्री रैडिकल्स से बचाता है. फ्री रैडिकल्स की ही वजह से प्रिमैच्योर एंजिग अर्थात समय पूर्व वृद्धावस्था की स्थिति उत्पन्न होती है. फ्री रैडिकल्स धूप और वातावरण में पाए जाने वाले हानिकारक टॉक्सिन्स की वजह से होता है.
प्रिवेंशन ऑफ एथेरो-सेलेरोसिस:– उम्र और खराब जीवन शैली की वजह से आर्टरी वॉल्व्स कोलेस्ट्रॉल की वजह से कठोर हो जाती है जिससे कि आगे चलकर ब्लॉकेज होने का डर रहता है, अनार का एंटीऑक्सिडेंट गुण बैड कोलेस्ट्रॉल को बढऩे से रोकता है. सरल भाषा में अनार आर्टरी वॉल्व्स को कड़ा होने नहीं देता जिससे हृदय हमेशा फैट फ्री अर्थात चर्बी मुक्त रहता है.
अनार का जूस खून में ऑक्सिजन लेवल को पम्प करता है. अनार कोलेस्ट्रोल घटाता है, फ्री रैडिकल्स से लड़ता है इससे शरीर में खून का संचार अच्छे ढंग से होता है और शरीर का ऑक्सिजन लेवल भी इम्प्रुव होता है.

adji

Leave a Reply

Your email address will not be published.