प्रधानमंत्री आवास योजना

Pradhanmantri Awas Yojna

प्रधानमंत्री आवास योजना का शुभारंभ 25 जून 2015 को हुआ था इसका मुख्य उद्देश्य ऐसे गरीब परिवार को मदद पहॅुचाना है जो कच्चे मकानों में रह रहें हैं। । उनको पक्के मकान में पहॅुचाना ही सरकार का मुख्य उद्देश्य है। इसके लिए सरकार 20 लाख घरों का निर्माण कर रही है।
सरकार ने इस योजना को तीन भागों में बांटा है।
पहले भाग में सरकार ने अप्रेल 2015 में शुरू किया था और इसे 2017 में समाप्त हो कर दिया ।
दूसरा भाग 2017 में शुरू किया जिसे 2019 में खत्म करने का लक्ष्य है।
तीसरा भाग 2019 में शुरू होगा और 2022 में समाप्त हो जाएगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना जो पूरे देश में सफलता पूर्वक कार्य कर रही है। 

योजना का उद्देश्य

 सरकार इस योजना के माध्यम से पक्के मकान बनाने के लिए 2 लाख 26000 रूपये हिताग्राही के खाते में जमा कर रही है। यह योजना किसी ऋण के रूप में नहीं बल्कि यह पूरी तरह से एक सहायता के तौर पर सरकार दे रही है। इस योजना की जानकारी के लिए जब हमारी टीम छत्तीसगढ़ पहॅुची तो हमने पाया कि यहाँ इस योजना पर तेजी से कार्य हो रहा है। फिर हमारी टीम बस्तर पहॅुची जहाॅं हमने पाया कि  बस्तर के सीएमओ और माही एसोशिएट ने हितग्राहियों के घर बनाने में अहम भूमिका निभाई है। हमारी टीम ने पाया कि कई हितग्राही ऐेसे थे जिनके अकाउण्ट में पैसा आ गया था लेकिन मजदूरों के अभाव में वे मकान नहीं बना पा रहे थे। ऐसे समय में बस्तर के सीएमओ और माही ऐसोशिएट ने मजदूरों की व्यवस्था करके हितग्राहियों के घर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की । बस्तर ज़िले में अब तक 110 मकान पूर्ण रूप से बनाये जा चुके है।यह बस्तर में आवाज योजना की सफलता का परिचायक है। ग्रामीण पक्के मकानों में अपने आपको सुरक्षित महसूस कर रहें है। उन्हें बरसात के दिनों में छत टपकने एवं उनके कच्चे मकान के गिर जाने का भय नहीं रहा है। ग्रामीणों ने जानकारी दी जब वे कच्चे मकान में रहते थे तो बरसात के दिनों में पानी घरों में घुस जाया करता था और अब वे ऐसी परेशानियों से मुक्त हो चुके है। सरकार की ये योजना उनके लिए वरदान साबित हो रही है। वहीं दूसरी तरफ अन्य ग्रामीणों का कहना था कि उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि वे कभी पक्के मकान में रह पायेंगे। लेकिन प्रधानमंत्री आवास योजना के कारण उनका यह सपना साकार हो चुका है। उनके पास भी अब पक्के मकान है।

Awas Yojana

इस योजना की विशेषताएं

  • आवास योजना के तहत जिसके भी कच्चे मकान है सरकार उन सभी को समान रूप से इस योजना का लाभ दे रही है।
  • सभी हितग्राहियों के बैंक में पैसा जमा होता है जिससे किसी भी तरह की गड़बड़ी नहीं होती है।
  • कच्चे मकान पक्के बनने से गाँव की सुंदरता बढ़ी है।
  • मकान बनने से रोजगार के अवसर भी बढ़े है।
  • हितग्राहियों के स्वयं के पक्के मकान में रहने से आत्मनिर्भरता बढ़ी है।
  • जहाँ पहले ग्रामीण एक ही कमरे में सभी रहते थे वे सभी अब स्वयं के मकान में अलग-अलग कमरों में रहते है।
  • इस योजना का लाभ सभी को समान रूप से मिला है।
  • आवास योजना नगर पंचायत के अधीन काम करती है।
  • आवास योजना देश की खास योजनाओं में से एक है।
 

और अंत में
जब हमारी टीम ने विशेष तौर पर सीएमओ और माही एसोशिएट से उनके भविष्य की योजना के बारे में बात की तो उन्होंने बताया कि जिस तेजी से काम बस्तर में अभी हुआ है उसमें और तेजी लानी होगी और कार्य पूर्ण करना होगा। जिससे 2022 तक आवास योजना पूर्ण हो सके।

 

Leave a Reply